Sale!

Boskiyana (Limited Deluxe Gift Pack)

0 out of 5

1,200.00 1,080.00

SKU: 9788183619790 Author: Gulzar, Presented by Yashwant Vyas
Pub-Year: 2020
Edition: 1st
Publisher: Radhakrishna Prakashan
Subject: Cinema
Categories: Cinema, Interview

118 in stock

Description

बोसकीयाना

गुलज़ार से बातें…’माचिस’ के, ‘हू-तू’ के, ‘ख़ुशबू’, ‘मीरा’ और ‘आँधी’ के बहुरंगी लेकिन सादा गुलज़ार से बातें…फ़िल्मों में अहसास को एक किरदार की तरह उतारनेवाले और गीतों-नज़्मों में ज़िंदगी के जटिल सीधेपन को अपनी विलक्षण उपमाओं और बिम्बों में खोलनेवाले गुलज़ार से उनकी फ़िल्मों, उनकी शायरी, उनकी कहानियों और उस मुअम्मे के बारे में बातें जिसे गुलज़ार कहा जाता है।

उनके रहन-सहन, उनके घर, उनकी पसंद-नापसंद और वे इस दुनिया को कैसे देखते हैं और कैसे देखना चाहते हैं, इस पर बातें…

यह बातों का एक लम्बा सिलसिला है जो एक मुलायम आबोहवा में हमें समूचे गुलज़ार से रू-ब-रू कराता है।

यशवंत व्यास गुलज़ार-तत्त्व के अन्वेषी रहे हैं। वे उस लय को पकड़ पाते हैं जिसमें गुलज़ार रहते और रचते हैं। इस लम्बी बातचीत से आप उनके ही शब्दों में कहें तो ‘गुलज़ार से नहाकर’ निकलते हैं।

 

गुलज़ार की ज़िन्दगी, गुलज़ार की दुनिया : बोसकीयाना

  • गुलज़ार की ज़िन्दगी का फ़लसफ़ा क्या है? जानने के लिए पढ़ सकते हैं बोसकीयाना में हुई आत्मीय बैठक का हासिल किताब ‘बातें–मुलाक़ातें गुलज़ार : बोसकीयाना’
  • दिवाली में दोस्तों और रिश्तेदारों को देने के लिए एक यादगार उपहार
  • खास आकर्षण!
  1. बोसकीयाना का विशेष सजिल्द संस्करण आकर्षक गिफ़्ट बॉक्स में (साइज लगभग 7.75 x 10.25 इंच), 4 रंगों में छपाई, कई अनदेखे फ़ोटो के साथ
  2. बोस‌कीयाना लिमिटेड गिफ़्ट पैक कैनवास बैग (साइज 16 X 16 इंच)
  3. आकर्षक नोट पैड (64 पृष्ठों का, साइज 13.5 X 20.5 सेमी.)
  4. एक ख़ूबसूरत क़लम
  5. एक्सक्लूसिव बुकमार्क

लेखक : गुलज़ार

गुलज़ार बेमिसाल शख़्स, मशहूर शायर, फ़िल्म निर्देशक -लेखक-गीतकार। 18 अगस्त 1934 को दीना (अविभाजित हिंदुस्तान, अब पाकिस्तान) में जन्म। कई किताबें, साहित्य अकादेमी और पद्मभूषण से अलंकृत। फ़िल्मों में दादासाहेब फाल्के, ग्रैमी, ऑस्कर समेत कई अवार्ड।

यशवंत व्यास

यशवंत व्यास जाने-पहचाने प्रयोगशील लेखक-पत्रकार। कई मशहूर अख़बारों के साथ पत्रिकाओं का संपादन। दो उपन्यास, दोनों पुरस्कृत। क़रीब दस और किताबें—व्यंग्य-संग्रह से लेकर फ़िल्म, मैनेजमेंट और पत्रकारिता पर रिसर्च तक । गुलज़ार की सोहबत में कोई ढाई-तीन दशक से।

Additional information

Authors

Binding

Edition

ISBN

Pub-Year

Publisher

Subject

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Boskiyana (Limited Deluxe Gift Pack)”